सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

पोस्ट

Featured Post

यह 5 स्किल जो लोकडाउन के समय घऱ पर बैठ कर आप सीख़ सकते हों।

कोरोना वायरस ने ना सिर्फ भारत को बल्कि विश्व के सभी देशों को अपने कहर से हीलाकर रख दिया है, और शायद दुनिया के आधे से भी ज़्यादा लोग अपने अपने घरों में कैदियों की तरह कैद होकर बैठे हैं। ऐसे समय में कई लोग घरों पे बैठे हुए बोर हो रहें हैं, तो कुछ लोग अपनी बुद्धिमत्ता और ज्ञान से उस बोरिंग समय को अपने आप को बहेतर बनाने में परिवर्तित कर रहे हैं। तो हमनें भी सोचा कि आपको इस लोकडाउन में कुछ नया औऱ अच्छा सिखाया जाए।



इसलिए हम आपके लिए लाए है 5 ऐसी स्किल्स जो आप इस लोकडाउन मे घर बैठे सिख सकतें हैं। 1. ब्लॉगिंग:
आज के युग को टेक्नोलॉजी को युग माना जाता हैं। फिर भी लोग इस की तरफ बहुत कम ध्यान दे पाते हैं। लेकिन कई लोग हैं जिन्हें टेक्नोलॉजी के बारे में जानने एवम् सीख ने में भारी रूचि तो होती,  पर वे किसी न किसी कारण सीख नहीँ पाते। लेकिन अब इस लोकडाउन के समय का सदुपयोग कर वह सब कुछ सिख पाएँगे। उसी पर ध्यान ऱखते हुए हम आपको ब्लोगिंग सीखने की सलाह देतें है।
ब्लॉगिंग वो होता हैं कि जब कोई व्यक्ति किसी चीज़ पर अपना ज्ञान दूसरों से साँजा करता है या फिर किसी बात पर अपनी राय देता हैं। यह सब वह व्यक्ति ऑन…
हाल की पोस्ट

जानिए नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC)/ राष्ट्रीय बचत पत्र के बारे में।

हाल ही में यश बेंक के कारनामों से हम सब परिचित तो है ही
औऱ पता नहीं अब कौनसी बेंक का दिवाला निकल जाए इस खयाल से आप सब चिंतित होंगे तो आज हम इसी चिंता से आपको मुक्त करवाने हेतु यह पोस्ट लाए है।


 नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) यह एक टैक्स सेविंग इन्वेस्टमेंट है, यहाँ पर इन्वेस्ट किए हुए आपके पैसे सीधे सरकार के पास जाते है क्योंकि पोस्ट-ऑफिस सरकार के आधीन होती हैं औऱ इससे आपके पैसे को बहोत सेफ्टी मिलती है। राष्ट्रीय बचत पत्र (NSC) जिसे कोई भी भारतीय अपनी नजदीकी पोस्ट-ऑफिस से खरीद सकता है। भारत सरकार द्वारा समर्थित राष्ट्रीय बचत पत्र एक निश्चित रिटर्न और कम जोखिम वाला निवेश हैं।

 NSC आमतौर पर कम जोखिम वाले औऱ फिक्स्ड रिटर्न प्राप्त करने वाले निवेशकों की पहली पसंद है।


नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट (NSC) के बारे में कुछ ख़ास बातें।  पहले NSC दो अवधि में उपलब्ध थे 5 वर्ष (NSC VIII) और 10 वर्ष (NSC IX)। NSC IX के बंद होने के साथ, वर्तमान में केवल 5 वर्ष की NSC उपलब्ध है।


 NSC को किसी भी भारतीय पोस्ट-ऑफिस से प्राप्त किया जा सकता है, और इसका मेच्योरिटी काल 5 साल है। मिनिस्ट्री ऑफ फाइनांस की घोषणाओं के…

अब रिचार्ज करें Google से, वो भी सिर्फ़ एक क्लिक में। रिचार्ज करने लिए अब किसी ऐप या वेबसाइट की आवश्यकता नहीं पड़ेगी।

हममें से ज्यादातर लोग फोन को रिचार्ज करने के लिए मोबाइल ऑपरेटर्स के ऐप्स का इस्तेमाल करते हैं।  कुछ लोग वेबसाइट के माध्यम से भी रिचार्ज करते हैं।  लेकिन इस नए तरीके से ग्राहक Google के माध्यम से किसी भी फोन का सिर्फ एक क्लिक से रिचार्ज कर सकते हैं।


 Google ने हाल ही में एंड्रॉइड स्मार्टफोन उपयोगकर्ताओं के लिए प्रीपेड सिम रिचार्ज करने की सुविधा अपने टूल्स में जोड़ी है। आइए जानें कि Google search के माध्यम से फ़ोन रिचार्ज कैसे करें, यह बहुत आसान है।


 सबसे पहले अपने फोन को अनलॉक करें, Google पर जाएं और सर्च बॉक्स पर टैप करें।

 अब गूगल सर्च बॉक्स में 'सिम रिचार्ज' टाइप करें।

 जैसे ही आप टाइप करेंगे, आपके सामने एक पेज खुल जाएगा।

 जिसमें आपको फोन नंबर डालने का विकल्प दिखेगा। इसमें अपना फोन नंबर दर्ज करें, फोन नंबर दर्ज करते ही आपको आपके ऑपरेटर का नाम दिखाई देगा।


 उसके तुरंत बाद आपको 'ब्राउज प्लान' नाम-का एक बटन दिखेगा उस पर टैप करना होगा। जिसमें नेटवर्क ऑपरेटर  के सारे प्लान्स की लिस्ट दिखाई देगी।

 अब आने वाले प्लान में से अपने पसंदीदा रिचार्ज प्लान पर टैप करें।

 इसके बाद …

आपके फेसबुक अकाउंट कीमत कितनी हैै? और आपके फेसबुक अकाउंट के जरिए फेसबुक कैसे कमता हैै अरबों रुपए?

फेसबुक हर साल अरबों रुपये कमा रहा है। फेसबुक की कमाई दो तरीकों से होती है। पहला फेसबुक पर विज्ञापन और सामग्री प्रचार के माध्यम से और दूसरा आपके डेटा के माध्यम से। डेटा के अनुसार एक अमेरिकी फेसबुक यूजर्स की फेसबुक प्रोफाइल की कीमत भारतीय रुपये में 10,000 रुपये से भी अधिक होती हैं। अब यह जानना अधिक महत्वपूर्ण है कि, भारतीय उपयोगकर्ताओं के प्रोफाइल की कीमत कितनी होंगी।

 फेसबुक की लोकप्रियता में गिरावट आई है लेकिन व्यापार पर कोई प्रभाव नहीं पड़ा है। 2018 और 2019 के वर्षों में, फेसबुक डेटा प्राइवेसी के आरोपों से घिरा हुआ था। फिर भी फेसबुक ने 2019 के अंत तक $ 6.88 बिलियन डॉलर की कमाई की थी। जिसके कारण फेसबुक की प्रॉफ़िट 30% बढ़कर $ 16.64 बिलियन डॉलर हो गई थी। दैनिक फेसबुक का उपयोग करने वाले लोग और मासिक आधार पर फेसबुक का उपयोग करने वाले सभी यूजर्स में लगभग 9% प्रतिशत की वृद्धि हुई है। अब हर दिन दो मिलियन से भी अधिक यूजर्स फेसबुक पर सक्रिय बनते हैं।

आप फेसबुक पर एक डिजिटल प्रोडक्ट बने हुए हैं।   जैसा कि हम इंटरनेट का गणित जानता है, फेसबुक और इसकी जैसी वेबसाइट हमारे डेटा के माध्यम से पैसा कम…

BS-4 श्रेणी के वाहन गलती से भी न खरीदें क्योंकि …

सुप्रीम कोर्ट ने आज BS-4 वाहनों के संबंध में एक महत्वपूर्ण स्पष्टीकरण दिया।  सुप्रीम कोर्ट ने ने कहा कि देश मे स्टेज-4 (BS-4) श्रेणी के सभी वाहनों को 1 अप्रैल, 2020 से देश में नहीं बेचा जाएगा। केंद्र सरकार ने मोटर वाहनों में प्रदूषण के नियमन हेतु 1 अप्रैल, 2020 से भारत स्टेज-6 (BS-6) इंजन के निर्माण के नियमों को लागू करने जा रही हैं।

 सुप्रीम कोर्ट ने कार कंपनियों की एक याचिका पर सुनवाई करते हुए शुक्रवार, 14 फरवरी, 2020 को एक अहम फैसला किया।  इस फैसले के अनुसार, BS-4 इंजन वाले वाहनों को 31 मार्च, 2020 के बाद नहीं बेचा जाएगा। सुप्रीम कोर्ट ने इस संबंध में वाहन निर्माताओं के आवेदन को खारिज कर दिया है।
 इससे पहले, वाहन निर्माताओं द्वारा 30 अप्रैल, 2020 तक की समयसीमा के लिए सुप्रीम कोर्ट में अपनी याचिका दाखिल की थी। 
 विश्लेषकों का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट के इस नए फैसले के बाद, कंपनियों को अपने सभी BS-4 इंजन वाले वाहनों को बाजार से वापस लेना होगा या फ़िर 31 मार्च, 2020 से पहले अपने सारे BS-4 वाहनों को बेचना होगा। हालांकि, अगर कोई ग्राहक 31 मार्च, 2020 से पहले किसी भी कारण से वाहन का पंजीकरण…

अब भारत का हर नागरिक देश के किसी भी कोने से 'वोट' कर सकेगा।

भारत को दुनिया का सबसे बड़ा लोकतंत्र माना जाता है। जिसमें अनुमानित 130 करोड़ लोग हैं इनमें से 90 करोड़ लोगों के पास मतदान करने का अधिकार है यानी कि 69.23% लोग वोट कर सकते हैं। लेकिन इनमें से अंदाज़न 30% ऐसे भी मतदाता है, जिनके मतदाता सूची में अपने नाम होने के बावजूद भी वे मतदान से वंचित हैं।, क्योंकि वे नौकरी या व्यावसायिक कारणों से देश के अन्य हिस्सों में रह रहे होते हैं।


केंद्रीय चुनाव आयोग इस बात पर विशेष ध्यान ऱखकर एक आधुनिक सिस्टम बनाने जा रहा है। ताकि वे लोग भी लोकतंत्र में पवित्र माने जाने वाले मतदान में भाग ले सकें।
आने वाले दिनों में, भारत का प्रत्येक नागरिक देश के किसी भी कोने से 'वोट' कर सकेगा। अब, मतदाता अपने राज्य में किसी दूसरे राज्य से भी वोट कर सकेंगे। इसके लिए केंद्रीय चुनाव आयोग IIT चेन्नई के साथ मिलकर एक ब्लॉक चेन सिस्टम तैयार कर रहा है।

मुख्य चुनाव आयुक्त के कमिश्नर सुनील अरोड़ा ने बुधवार को कहा की "यह एक अत्याधुनिक सिस्टम होगी, यदि राजस्थान का कोई व्यक्ति चेन्नई में काम कर रहा है, तो वह चेन्नई से राजस्थान चुनाव में मतदान कर सकेगा"। हालांकि, उन्होंन…

क्या आप भी महीने में 30 हजार रुपये कमाना चाहते हैं? सरकार की इस स्टार्टअप पर 2.50 लाख तक की सहायता।

केंद्र सरकार जन औषधि केंद्रों की संख्या बढ़ाने जा रही है।  2020 के अंत तक, देश के सभी हिस्सों में एक जन औषधि केंद्र खोला जाएगा, जहां ग्रामीण स्तर पर लोगों को सस्ती और गुणवत्तापूर्ण जेनेरिक दवाएँ मिल सकेंगी। सरकार की यह घोषणा उन लोगों के लिए है जो इस क्षेत्र में व्यवसाय करना चाहते हैं। देश में अब तक लगभग 5,000 जन औषधि केंद्र खोले गए हैं। तो आप भी जन औषधि केंद्र खोलकर लगभग 30 हजार महीने कमा सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कि आप एक जन औषधि केंद्र कैसे खोल सकते हैं।


जन औषधि केंद्र से जुड़ी कुछ बाते, इस योजना का लाभ कौन उठा सकता है?

 पहली श्रेणी में कोई भी बेरोजगार फार्मासिस्ट, डॉक्टर, पंजीकृत मेडिकल प्रैक्टिशनर यह स्टोर खोल सकता है। दूसरी श्रेणी में ट्रस्टों, NGO, निजी अस्पतालों, समाज और स्वयं सहायता समूहों को स्टोर खोलना मौक़ा मिलेगा।  तीसरी श्रेणी में राज्य सरकार द्वारा नामित एजेंसी यह स्टोर खोल सकती हैं। स्टोर खोलने के लिए 120 वर्गफुट क्षेत्र में स्टोर होना आवश्यक है।

सरकार से 2.5 लाख की सहायता मिलेगी।

  जन औषधि केंद्र खोलने की कुल लागत 2.5 लाख रुपये तक होगी। और जन औषधि केंद्र खोलने वाले को …