सीधे मुख्य सामग्री पर जाएं

संदेश

दिसंबर, 2019 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

'वन नेशन, वन राशन कार्ड': योजना की शरूआत गुजरात सहित 12 राज्यों में 15 जनवरी से की जाएगी।

'वन नेशन, वन राशन कार्ड': योजना की शरूआत गुजरात सहित 12 राज्यों में 15 जनवरी से की जाएगी। वन नेशन, वन राशन कार्ड': योजना नई दिल्ली: केंद्र सरकार का 'वन नेशन, वन राशन कार्ड' योजना देश के 12 राज्यों में अगले 15 जनवरी से लागू हो जाएगी। इस योजना के तहत, लाभार्थी देश के किसी भी हिस्से में स्थित राशन की दुकानों से सबसिडी वाला अनाज खरीद सकते हैं। धीरे-धीरे इस योजना को देश के अन्य राज्यों में भी लागू किया जाएगा। राशन की दुकान शुरुआत में यह योजना गुजरात, महाराष्ट्र, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, हरियाणा, राजस्थान, कर्नाटक, केरल, गोवा, मध्य प्रदेश, त्रिपुरा और झारखंड में लागू की जाएगी। ये सभी राज्य सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS -पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम) की पात्रता का उपयोग करते हुए इलेक्ट्रॉनिक प्वाइंट ऑफ सेल (ePoS) मशीनों का उपयोग करेंगे, जिन्हें 12 राज्यों के सभी राशन की दुकानों में स्थापित किया गया है। PDS: पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम क्या हैं? सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) एक भारतीय खाद्य सुरक्षा प्रणाली है। भारत में उपभोक्ता मामले, खाद्य और सार्वज

अविश्वसनीय 5,700 साल पुरानी 'च्युइंग गम' से उसको चबाने वाले व्यक्ति की छवि कैसे बन सकती है?

अविश्वसनीय 5,700 साल पुरानी 'च्युइंग गम' से उसको चबाने वाले व्यक्ति की छवि कैसे बन सकती है?   यह छवि उस महिला का एक कलात्मक पुनर्निर्माण है जिसने बर्च पिच को चबाया था।  उसे लोला नाम दिया गया है। डेनमार्क के "कोपेनहेगन विश्वविद्यालय" के शोधकर्ताओं ने 5,700 साल पुराने "च्यूइंग गम" से एक पूर्ण मानव जीनोम निकालने में सफलता प्राप्त की है, जिससे वे न सिर्फ उस च्यूइंग गम को चबाने वाले व्यक्ति की छवि बना पाया हैं, पर उसकी आहार संबंधी आदतों का पता भी लगा पाए हैं। प्राचीन मानव जीनोम के आधार पर, शोधकर्ता बता सकते हैं कि बर्च पिच से बनी इस "चबाने वाली गम" को एक महिला द्वारा चबाया गया था। बर्च पिच बर्च पिच क्या है?   बर्च पिच एक च्युइंग गम है। जो भूर्ज जिसे अंग्रेजी में बर्च (Birch) कहते है उस पेड़ की छाल से प्राप्त होती है। इस पेड़ की भीतरी छाल से भोजपत्र प्राप्त होता है।  यह भी पढ़ें:  मौन में बड़ी ताकत है। मेगेजिन नेचर कम्युनिकेशंस   में प्रकाशित एक अध्ययन के अनुसार, वह मुख्य रूप से यूरोप के शिकारी लोगों के साथ आनुवंशिक रूप से जुड़ी हुई थ

अब बिना नेटवर्क के भी फोन पर कॉल की जा सकती है, VoWiFi के जरिए।

अब बिना नेटवर्क के भी फोन पर कॉल की जा सकती है, VoWiFi के जरिए। अगर आप airtel या Jio सिम कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं तो यह जानकारी आपके लिए है क्योंकि आप बिना मोबाइल नेटवर्क से भी आपके मोबाइल फोन पर आराम से बात कर सकते हैं।  airtel और jio ने अपनी Voice Over WiFi सेवा VoWiFi को लॉन्च कर दिया है। अब तक 4G यूजर्स VoLTE के जरिए कॉल करते थे, यानी Voice Over LTE पर अब WiFi के जरिए वॉयस Voice Over WiFi  (VoWiFi) के जरिए भी कोल कर सकते हैं। VoWiFi क्या है? WiFi के जरिए Voice Over WiFi  (VoWiFi) अपना काम करता है। इसकी Voice Over Ip को VoIp भी कहा जाता है।  VoWiFi से आप घर के WiFi, पब्लिक WiFi और WiFi हॉटस्पॉट के उपयोग से कॉल कर सकते हैं। उदाहरण के लिए, यदि आपके मोबाइल में नेटवर्क नहीं है, तो आप किसी भी WiFi या हॉटस्पॉट के माध्यम से फोन पर आराम से बात कर सकते हैं। VoWiFi का सबसे बड़ा लाभ रोमिंग में होगा, क्योंकि आप मुफ्त में WiFi के माध्यम से बात करेंगे। अपने फोन पर WiFi से कैसे बात करें? अगर आपको अभी भी समझ नहीं आ रहा है कि VoWiFi कॉलिंग क्या है, तो हम आपको उदाहरण के द्वा